इस एक्ट्रेस से कहा गया, ‘फिल्म में रोल के बदले प्रोड्यूसर के साथ सोना होगा

0
714

ट्रैफिक सिग्नल’, ‘धाग’, ‘मुंबई ट्राइयॉलोजी’ जैसी फिल्मों में काम कर चुकीं एक्ट्रेसेज ने बताया कि उन्हें फिल्म में काम के बदले एक शख्स के साथ सोने को कहा गया था। कास्टिंग काउच और MeToo जैसे कैंपेंन की वजह से एक्ट्रेसेज अपने बुरे एक्सपीरियंस खुल कर शेयर करने लगी हैं। अब इसे लेकर ‘डार्क सीक्रेट्स’ नाम से एक डॉक्युमेंट्री बनी है। इस डॉक्युमेंट्री में अपने एक्सपीरियंस शेयर कर राधिका आप्टे और ऊषा जाधव सुर्खियों में छाई हुई हैं। ट्रैफिक सिग्नल, मुंबई ट्राइयॉलोजी जैसी फिल्मों में काम कर चुकीं ऊषा ने बताया कि उन्हें फिल्म में काम के बदले एक शख्स के साथ सोने को कहा गया था।

अवॉर्ड विनिंग मराठी एक्ट्रेस उषा जाधव ने भी अपने चौंकाने वाले खुलासे शेयर किए। उन्होंने कहा, इंडस्ट्री में पावरफुल लोगों द्वारा एक्ट्रेस से सेक्सुअल फेवर को लिए कहा जाना बहुत आम बात है। उषा ने बताया कि उनसे फिल्मों में मौका दिए जाने के बाद बदले में कुछ लौटाने को कहा गया था। उषा ने अपनी बातचीत की कुछ लाइन्स भी शेयर की. ” क्या? मेरे पास पैसा नहीं है उसने कहा, ‘नहीं नहीं, पैसे की बात नहीं है। ये किसी के साथ सोने के बारे में है हो सकता है प्रोड्यूसर या डायरेक्टर.दोनों भी हो सकते हैं।’ये डॉक्यूमेंट्री ‘बॉलीवुड्स डार्क सीक्रेट’ नाम से है, जो शनिवार और रविवार को प्रसारित होगी। दक्षिण भारतीय अभिनेत्री श्री रेड्डी ने काउस्टिंग काउच के खिलाफ अभियान छेड़ा है। पिछले दिनों उन्होंने मूवी आर्टिस्ट एसोएिसशन के दफ्तर के बाहर टॉपलेस होकर प्रदर्शन किया था। इसके बाद से एक बार फिर कास्ट‍िंग काउच पर बहस छिड़ गई। सोशल मीडिया पर #Metoo नाम से कैंपेन फिर चल पड़ा है।

बता दें कि कास्टिंग काउच के बारे में राधिका आप्टे ने कहा, “कुछ लोगों को भगवान की तरह समझा जाता है। इसलिए उनके खिलाफ बोलने में लोग सोचते हैं कि उनकी आवाज को सुना ही नहीं जाएगा। लोग सोचते हैं कि अगर वह कुछ बोलेंगे तो संभव है कि उनका करियर खतरे में पड़ जाएगा।”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here